पश्चिमी चम्पारणबिहार

वाहन चालकों की मनमानी से राहगीरों को हो रही है परेशानी।

बगहा(प.च)।

आखिर कब तक जाम से मिलेगी राहगीरों(यात्रियों)को निजात आए दिन होती रहती है वाहन चालकों में तू तू मैं मैं । क्योकि जैसे ही कोई बस या ट्रक एक तरफ से पहुँचते है कि दूसरी तरफ से ही कोई सवारी तुरंत पहुँचती है कि देखते ही देखते चारो तरफ से वाहनों की जमावड़ा लग ही जाती है । अब परेशानी होनी शुरू ही जाती है छोटे छोटे वाहनो एवं यात्रियों की किस तरफ अपने सवारी को पकड़े चारो तरफ से जाम ही जाम हो जाती है । कभी कभी ऐसा भी समस्या हो जाती है । यदि किसी जगह आग लगी होती है और अग्निशमन जाम में ही फसी की फसी रह जाती है । जब तक जाम हटती है तब तक अग्निशमन उसी में फ़सी रहती है । इसी से अंदाजा लगाया जा सकता है कि जाम में फंस जाने तक कितने घर जलकर खाक हो जाते है और तो और किसी मरीज को हॉस्पिटल पहुचाने के लिए एम्बुलेंस जाम में फसकर रह जाती है । मरीज समय से हॉस्पिटल नही जा पाता है । जिससे रास्ते मे दम तोड़ देता है । सबसे बड़ी बात यह है कि स्थानीय चौक से चारो तरह जाने के लिए दर्जनो गांवो के लोग यहाँ वाहन पकड़ने के लिए आते है । जैसे चौतरवा से बेतिया ,लौरिया , पटना ,बगहा ,चौतरवा से बाल्मीकिनगर ,हरनाटॉड चौतरवा से पडरौना , गोरखपुर आदि जगहो पर जाने जे किये सैकड़ो लोग आते है । अहले सुबह से रात तक सवारी पकड़ने जे लिए आते है । देर रात तक अपने घर वापस होते है । जिसको देखते हुए बुद्धिजीवीयो ने स्थानीय चौक पर गोलम्बर जल्द से जल्द बनाने की प्रशासन से गुहार लगायी है । ताकि इस बड़ी समस्या से लोगो को निजात मिल सके ।