पश्चिमी चम्पारणबिहार

बगहा दो शहरी पीएचसी में सरकार के गाइडलाइन को ताक पर रख किया जा रहा है कोविड 19 की जांच।

बगहा(प.च)।

बगहा दो शहरी पीएससी में बुधवार की सुबह से ही एसएसबी जवानों की कोरोनावायरस जांच के लिए भारी भीड़ उमड़ी रही । सैकड़ों की संख्या में मौजूद एसएसबी जवानों की कोविड-19 जांच की जा रही है । बताते चलें कि जहां एक तरफ सरकार कोविड-19 बचाव हेतु पूरे देश में व्यापक तौर पर करोड़ों की खर्च कर प्रचार प्रसार करते हुए उससे बचाव के लिए प्रयास कर रही है तो वहीं दूसरी तरफ बगहा 2 अर्बन पीएचसी में लैब टेक्नीशियन चंद्रदेव ठाकुर के द्वारा बिना किट पहने ही धड़ल्ले से कोविड-19 जांच जान को जोखिम में डालकर किया जा रहा है । हालाकि कोविड की जांच को लेकर सरकार के द्वारा अस्पताल से लेकर शहरी पीएससी तक पीटीई किट के साथ-साथ मास्क और गलफस आदि की व्यवस्था किया गया है । लेकिन डॉक्टरों के द्वारा जान को जोखिम में डालकर बिना किट पहने ही कोविड-19 जांच किया जा रहा है बातचीत के दौरान बातचीत के दौरान पीएससी के प्रभारी पीएचसी डॉ अरशद कमाल ने बताया कि गलफस और मास्क खत्म हो गया है जिसके लिए जिला स्वास्थ्य विभाग को लिखा जा चुका है पीटीईटी उपलब्ध है जो पहनकर है गोविंदा का जांच करना है लेकिन अगर बिना पहने टेक्नीशियन के द्वारा कोविड-19 किया जा रहा है तो इस मामले में जांच पड़ताल का टेक्नीशियन से स्पष्टीकरण पूछा जाएगा