पश्चिमी चम्पारणबिहार

एसडीएम द्वारा गठित टीम ने हरनाटांड़ पीएचसी का किया निरीक्षण, मिली भारी अनियमितता।

बगहा(प.च)।

एसडीएम शेखर आनंद के द्वारा गठित टीम ने शनिवार को हरनाटांड़ पीएचसी का जांच किया । जांच के दौरान पीएचसी में भारी अनियमितता पाई गई हैं । अनियमितता देख बिफरे एएसडीएम सरफराज नवाज के द्वारा पीएचसी प्रभारी डाक्टर राजेश सिंह नीरज व स्वास्थ्य प्रबंधक अशोक पांडे को कड़ी फटकार लगाई गई । जांच टीम में अपर अनुमंडल पदाधिकारी सरफराज नवाज व बगहा दो बीडीओ प्रणव कुमार गिरि सहित पांच लोग टीम में शामिल है । जाँच के दौरान बहुत सारी कमियों को शीघ्र दूर करने का सख्त निर्देश पीएचसी प्रभारी राजेश सिंह नीरज व प्रबंधक अशोक पांडेय को दिया। बताते चलें कि एक दिन पूर्व बगहा अनुमंडल पदाधिकारी शेखर आनंद ने हरनाटांड़ पीएचसी का औचक निरीक्षण किया।अनुमंडल पदाधिकारी के पहुंचने के बाद पीएचसी कर्मियों में अफरा-तफरी के माहौल देखी गई। कई सारे जिम्मेदार स्वास्थ्य कर्मी -प्रबंधक आदि ड्यूटी से नदारद पाए गए।जिसको लेकर अनुमंडल पदाधिकारी काफी नाराज दिखे। अनुमंडल पदाधिकारी ने औषधि भंडार कक्ष पर ताला लगा हुआ देखकर फटकार लगाते हुए तुरंत उसको सील कर दिया था। अपर अनुमंडल पदाधिकारी सरफराज नवाज व बगहा दो बीडीओ प्रणव कुमार गिरी के नेतृत्व में 5 सदस्यीय टीम को पीएससी में भेजा गया । टीम के द्वारा सील औषधि भंडार कक्ष को खोला गया। उसके पश्चात सभी दवाइयों का अवलोकन किया गया । साथ ही एक्सरे रूम का भी जांच पड़ताल किया गया । जिसमें एक्सरे मशीन में खराबी देखी गई । जिसको दुरूस्त करने के बारे में पीएचसी प्रभारी को दिशा निर्देश दिया गया । पीएचसी प्रभारी के द्वारा बताया गया कि 3 दिन के अंदर एक्सरे मशीन पूरी तरह से काम करने लगेगा । साथ ही मुख्य द्वार के पास निशुल्क एक्सरे मशीन लिखवाने के लिए एएसडीएम के द्वारा निर्देश दिया गया । ताकि लाभुकों को एक्सरे का लाभ प्राप्त हो सके। टीम के द्वारा प्रसव का ऑपरेशन कराने आदि के बारे में जांच करते हुए अनियमितताओं को लेकर प्रभारी से पूछताछ की गई। साथ ही अस्पताल के अंदर और बाहर गंदगी को देखते हुए टीम के द्वारा प्रभारी व प्रबंधक को फटकार लगाते हुए साफ सफाई का विशेष ध्यान देने का निर्देश दिया गया।इस बावत एएसडीएम सरफराज नवाज ने बताया कि पीएचसी में बहुत सारी अनियमितताएं पाई गई है । जैसे प्रसव कक्ष का साफ सुथरा नहीं होना,ऑपरेशन कक्ष में अनौपचारिक रूप से रखी गई कार्टूंस के बाँक्स, एक्सरे मशीन का खराब होना, साफ सफाई आदि के लिए 15 दिन का समय सीमा पीएचसी प्रबंधक व प्रभारी को दिया गया है। इन 15 दिनों के अंदर में अस्पताल की सारी कमियों को दूर कर दिया जाना चाहिए। इसमें किसी प्रकार की लापरवाही बरतने पर विभागीय स्तर से कार्रवाई की जाएगी।एएसडीएम श्री नवाज ने बताया कि जांच रिपोर्ट अनुमंडल पदाधिकारी को जल्द ही सौप दी जाएगी ।