पश्चिमी चम्पारणबिहार

गन्ना किसानों की बढ़ी परेशानी चालान हुआ फ्री,पर साधन की है किल्लत।

 

रामनगर (प.च)।

रामनगर हरिनगर सुगर मिल के रिजर्व क्षेत्र के गन्ना किसानों की परेशानी फिर एक बार बढ़ गई है। पहले तो देवराज के किसानों को समय पर चालान नहीं मिला जिस कारण समय पर खेत खाली नहीं हुआ। साथ ही रूपये के अभाव में आवश्यक कार्य नहीं निबटाये जा सके। अब सुगर मिल ने फरवरी के अंत तक मिल बंद करने की घोषणा कर दी है। इस घोषणा के साथ ही चालान भी फ्री कर दिया गया है। ऐसी परिस्थिति में वैसे किसानों की समस्याएं अधिक बढ़ गई हैं जिनके पास साधन नहीं हैं। इन्हें अब न तो मजदूर मिल रहे हैं और न ही वाहन। मजदूरों तथा वाहनों पर व्यय काफी बढ़ गया है। जोगिया के किसान ताहिर हुसैन ने बताया कि पहले की अपेक्षा डेढ़ गुना व्यय करने पर भी साधन के लिए मारामारी है। उन्होंने कहा कि मिल प्रबंधन की खामियों के कारण छोटे किसानों को अधिक परेशान होना पड़ रहा है।सिमित खेतों में गन्ना उगाने वाले किसान भी अपना थोड़ा सा गन्ना लेकर सत्र के अंत तक गन्ने किया ही तरह पेरे जाते हैं। एक अन्य किसान ने बताया कि हरिनगर सुगर मिल के सामने किसानों की नहीं चलती है। केवल बड़े किसानों के ही फायदे की बात सुगर मिल द्वारा की जाती है।