पश्चिमी चम्पारणबिहार

वसंत आते ही बौराने लगे आम।

रामनगर (प.च)।

रामनगर वसंत ऋतु की शुरूआत होते ही। बगीचों की रौनक बढ़ गई है।आम सहित लीची आदि के पेंड़ बौराने लगे हैं। आम के पेंड़ मंजर से लद गए हैं। मंजर लगने से बगीचे खुशनुमा हो गए हैं। बगीचे के रास्ते आने-जाने वाले लोग महक का आनंद ले रहे हैं।बगीचों में पक्षियों की चहचहाहट भी बढ़ गई है। बरगजवा देवराज स्थित हजारी बगीचे में अस्सी प्रतिशत से भी अधिक आम के पेंड़ हैं। सभी आम मंजर से लद गए हैं। बगीचों का व्यवसाय करनेवाले किसान काफी खुश हैं। इस साल उम्मीद जतायी जा रही है कि संतोषजनक उत्पादन होगा। पिछले साल संतोषजनक उत्पादन नहीं होने के कारण उत्पादक किसानों को हानि हुई थी। आम उत्पादन करनेवाले किसान लोरिक साह ने बताया कि इस साल लाही नामक किटों का प्रभाव नहीं है, इस कारण मंजर को कम नुकसान पहुंचेगा। लालबाबू साह नामक एक अन्य किसान ने बताया कि मंजरों पर किटों का प्रभाव नहीं पड़े इसके लिए उन पर दवाओं का छिड़काव किया जा रहा है। साथ ही जड़ों के पास की मिट्टी की जोताई कर जड़ों की सिंचाई भी की जा रही है। ऐसा करने से नमी बनी रहेगी तथा मंजरों एवं टिकोलों को कम नुकसान होगा। मंजर लगते ही बगीचों में रखवालों ने अपना डेरा भी जमा लिया है। सिंचाई हेतु बगीचों के अंदर बने कुपों की सफाई भी करा दी गई है ।