पश्चिमी चम्पारणबिहार

इनरवा मे कौवे के मरने से लोगों में बर्ड फ्लू का दहशत।

मैनाटांड़ से संवाददाता पंकज कुमार

कौवे के मरने से इनारवा गांव के ग्रामीणों में बर्ड फ्लू का दहशत व्याप्त है। बर्ड फ्लू की वजह से लोग पूरी तरह डरे सहमे है। ग्रामीण सगीर अहमद, साबिर आलम, मकसूद मियां, शेख राजा, मुस्तकिम मियां, जितेंद्र कुमार, दिनेश कुमार, ओम प्रकाश कुमार, आलमगीर मियां सहित दर्जनधिक ग्रामीणों ने बताया कि इनारवा गांव में अपने आप कौआ वृक्ष से नीचे गिर कर मृत हो जा रहे हैं। वही सगीर मियां के बांस में दर्जनोधिक मृत पड़े कौवे को देख लोगों में दहशत फैल गई है। ग्रामीणों ने बताया कि एक तरफ तो कोविड-19 का डर सता रहा है तो दूसरी तरफ वर्ड फ्लू की वजह से जिंदगी जीने का कोई मजा ही नहीं रहा गया है।जिंदगी पुरी तरह विवश लग रही है। वही टीभीओ डाॅ उमेश कुमार ने बताया कि बर्ड फ्लू वास्तव में एक संक्रामक बीमारी है।यह इन्फ्लूएंजा टाइप ए वायरस की मदद से फैलता है जो आमतौर पर चिकन, कबूतर और इस तरह के पक्षियों में पाया जाता है। इस वायरस के बहुत से स्ट्रेन हैं।इसमें से कुछ माइल्ड होते हैं जबकि कुछ बहुत अधिक संक्रामक होते हैं और उससे बहुत बड़े पैमाने पर पक्षियों के मरने का खतरा पैदा हो जाता है। फिर भी कौवे की मौत कैसे हुई है इसकी जांच कराई गई है वर्ड फ्लू से मौत नही हुई है।