पश्चिमी चम्पारणबिहार

बगहा -1 प्रखंड की चार तथा बगहा – 2 प्रखंड की दो पंचायतों में आम सभा आयोजित कर किया गया आंगनवाड़ी सेविका व सहायिका का चयन।

बगहा(प.च)।

बगहा एक बालविकास परियोजना के द्वारा वरिये पदाधिकारी के दिशा निर्देश पर 4 पंचायतों मे विशेष आमसभा कर सेविका सहायिका बहाली करने को ले एलएस को अलग अलग प्रतिनियुक्ति किया गया था।वही सेविका बहाली को ले सिगाड़ी पिपरिया पंचायत के वार्ड 6 मे प्रतिनियुक्त मजिस्ट्रेट सीओ रामनगर विनोद मिश्रा व महिला पर्यवेक्षिका आरती सिंह रही ।जिसमे सेविका सहायिका बहाली को ले वरियता सुंची के आधार पर प्रथम व दशरे तथा तिसरे नम्बर पर सुंची मे नामित आवेदक का आमसभा मे किसी न किसी गलती को ले जब बहाली नही किया गया तो चौथे नम्बर पर आने वाले आवेदिका का जब चयन होने का मुद्वा आमसभा मे लाया गया।तो तिसरे व चौथे नम्बर पर आने वाले आवेदिका के परिजनो में जमकर मारपीट हुआ है ।वही इस बावत मजिस्ट्रेट के रुप मे तैनात सीओ विनोद कुमार मिश्रा ने बताया कि जिससे आमसभा मे बहाली प्रक्रिया पूर्ण नही हुआ । उसको ले तिसरे नम्बर व चौथे नम्बर आने वाले आवेदकों के परिजन मे आपस मे मारपीट हुआ है।वही बहाली प्रक्रिया के बावत जब सीओ से अन्य जानकारी लिया गया तो उन्होंने बताया कि प्रतिनियुक्त एलएस से पुछ लिया जाय।वही प्रतिनियुक्त एल एस आरती सिंह से उनके मोबाइल पर जानकारी लेने कि कोशिश किया गया । लेकिन वह फोन नही रिसीव कि जिसके चलते आगे कि सुचना नही पता चल सका है । सुत्रो कि मानें तो बगहा एक बालविकास परियोजना बहाली व आमसभा मे पैसा की उगाही मामले को ले भैसही पाडरखाप तथा चन्द्रहा रुपवलिया पंचायत मे महिला पर्यवेक्षिका के साथ आवेदको द्वारा हो हल्ला हुआ था।उसके वावजूद भी विभागीय उदासीनता के कारण विवादित महिला पर्यवेक्षिका आरती सिंह को पूनः विशेष आमसभा मे बहाली करने व आमसभा कराने को ले प्रतिनियुक्ति किया गया है। जिसको ले बालविकास जिला प्रोग्राम पदाधिकारी निरुपमा कुमारी ने बताया कि उनके द्वारा 6 महिला पर्यवेक्षिका को किसी भी सेविका सहायिका बहाली प्रकिया से अलग करने का रिपोर्ट एन आईसी मे भेज दिया गया था।उसके बावजूद भी कैसे इनका प्रतिनियुक्ति हुआ है । इसकी जांच कराई जा रही है। उन्होंने बताया कि बहाली प्रकिया मे किसी भी प्रकार की शिकायत आने पर सम्बंधित कर्मी को बख्सा नही जायेगा ।समाचार प्रेषण तक आगे अन्य किसी पंचायत का रिर्पोट प्राप्त नही हो सका है।