पश्चिमी चम्पारणबिहार

मालें कार्यकर्ताओं ने रिश्वतखोरी और अफसरशाही के विरोध मे किया आमरण अनशन।

 

मैनाटांड़ संवाददाता पंकज कुमार

मालें कार्यकर्ताओं ने रिश्वतखोरी और अफसरशाही के विरोध मे प्रखंड मुख्यालय मे मंगलवार से दो दिवसीय आमरण अनशन कार्यक्रम का आयोजन किया।दो दिवसीय आमरण पर अंचल सचिव अच्छेलाल राम, विधायक प्रतिनिधि इंद्रदेव कुशवाहा, जिला कमेटी सदस्य सीताराम राम, अमिललाल रविदास बैठे रहे।कार्यक्रम को संबोधित करते हुए अंचल सचिव अच्छेलाल राम ने कहा कि नीतीश सरकार की बहुचर्चित सात निश्चय योजना नल-जल, गली-नली में लूट और प्रधानमंत्री-मुख्यमंत्री आवास योजना में व्याप्त भ्रष्टाचार किसी से छिपा नहीं है।वही जिला कमिटी सदस्य सीताराम राम ने कहा कि भाकपा माले सिकटा विधायक वीरेन्द्र प्रसाद गुप्ता ने हजारों लोगों के साथ 9 जनवरी को मैनाटाड़ प्रखंड मुख्यालय पर जनसुनवाई किया, वहां घोषणा हुआ कि जनता और जनता के काम के प्रति किसी भी प्रकार का कोई लापरवाही और भ्रष्टाचार बर्दास्त नहीं किया जाएगा। जनता के सामने सभी पदाधिकारी और कर्मचारियों ने कहा कि आज के बाद हम लोग अपने आप मे
सुधार करेंगे, भ्रष्टाचार पर रोक लगेगी, लेकिन आज भी पैसा लेकर आवास सूची के साथ छेड़छाड़ हो रहा है। नल-जल, गली-नली योजना की लूट की जांच नहीं हो रही हैं। जमीन कि खारिज-दाखिल में कोई सुधार नहीं हुआ है।वही विधायक प्रतिनिधि इंद्रदेव कुशवाहा ने कहा 17 फरवरी से लकर 03 मार्च तक आयुष्मान भारत योजना के तहत स्वास्थ्य कार्ड पांच लाख रूपये तक की हेल्थ इंश्योरेंस स्कीम से बनाना था। लेकिन सरकार द्वारा स्वास्थ्य कार्ड बनाने की घोषणा हो चुकी है। पर कहीं किसी को पता नहीं है, न सरकार की तरफ से जनता के बीच प्रचार किया जा रहा है, कब कहा, कैसे, क्या कागजात लगेगा कुछ पता नहीं है।मौके पर शेख राजा, बंधु राम,अवध महतो, विशुनदेव यादव, लालजी यादव, नंद किशोर महतो, मुख्तार मियां, लक्ष्मण साह, दरोगा मियां, मुजम्मिल मियां सहित दर्जनोंधिक कार्यकर्ता मौजूद रहे।