पश्चिमी चम्पारणबिहार

मुख्यमंत्री ने पश्चिम चंपारण के चनपटिया बाजार समिति प्रांगण में नवप्रवर्तन स्टार्टअप जोन का किया निरीक्षण।

बेतिया/चनपटिया (प.च)।

मुख्यमंत्री श्री नीतीश कुमार ने आज पश्चिम चंपारण जिले के चनपटिया बाजार समिति स्थित जिला औद्योगिक नवप्रवर्तन योजना अंतर्गत नवप्रवर्तन स्टार्टअप जोन का निरीक्षण एवं परिभ्रमण किया। इस नवप्रवर्तन स्टार्टअप जोन में नोएडा, सूरत, लुधियाना, दिल्ली, अमृतसर, जैतपुर (गुजरात), कतर आदि जगहों से लॉकडाउन के दौरान बिहार वापस आये हुनरमंद लोगों द्वारा उद्यम कार्यों एवं बनाये गए उत्पादों से सुसज्जित स्टॉल का मुख्यमंत्री ने मुआयना कर पूरी जानकारी ली। निरीक्षण के क्रम में मुख्यमंत्री ने उद्यमियों से रॉ मेटेरियल, उत्पादों की मार्कटिंग , उत्पादों की गुणवत्ता एवं उनकी कीमत, नई तकनीक एवं मशीनों के माध्यम से प्रतिदिन बनाये जा रहे तरह-तरह के उत्पादों की संख्या के साथ ही उद्यमियों की जरूरतों एवं उनके दिक्कतों के विषय में विस्तृत जानकारी ली। मुख्यमंत्री ने अधिक से अधिक स्थानीय एवं नए लोगों को प्रशिक्षित करने हेतु उद्यमियों से आग्रह किया। बाजार समिति परिभ्रमण के क्रम में मुख्यमंत्री ने अधिकारियां को निर्देश दिया कि बाजार समिति के पुराने स्ट्रक्चर का भी उपयोग उद्योग को और बढ़ावा देने के लिए किया जाय। उन्होंने कहा कि यहां काफी जगह है, जरूरत के मुताबिक इसे उपयोग में लाने की व्यवस्था सुनिश्चित करें।

इसके पश्चात प्रस्तुतिकरण के जरिये नवप्रवर्तन स्टार्टअप जोन से जुड़े उद्यमियों को दी जा रही सुविधाएं एवं उनकी जरूरतों के संबंध में पश्चिम चंपारण के जिलाधिकारी ने मुख्यमंत्री को विस्तृत रूप से अवगत कराया। उप मुख्यमंत्री एवं जिलाधिकारी ने मुख्यमंत्री को प्रतीक चिन्ह, जबकि स्थानीय विधायक ने अंगवस्त्र भेंट कर उन्हें नववर्ष की बधाई दी। निरीक्षण के पश्चात मुख्यमंत्री ने पत्रकारों से बातचीत करते हुए कहा कि कोरोना काल में लॉकडाउन के दौरान काफी तादाद में लोग बाहर से बिहार आये। हमलोगों की कोशिश रही है कि किसी को भी मजबुरी में बिहार से बाहर जाना नहीं पड़े, कोई अगर अपनी स्वेच्छा से जाना चाहता है तो वो उनका अधिकार है। बाहर से आने वाले लोगों को हमने क्वारंटाइन सेंटरों पर रखा। बाहर से आए लोगों को बिहार में ही रोजगार के अवसर उपलब्ध कराने को लेकर हमने औद्योगिक नीति में बदलाव किया। औद्योगिक नीति में नया प्रावधान जोड़ा गया कि जो लोग बाहर से आयेंगे, उनको यहां पर काम शुरु करने को लेकर मदद की जायेगी। बाहर से आने वाले कई लोगों ने यहां पर काम करने की इच्छा व्यक्त की। नई पॉलिसी के तहत कई जगहों पर काम शुरु किया गया। उन्होंने कहा कि यहां आकर मुझे काफी प्रसन्नता हुई। यहां एक सेंटर बनाकर काम किया जा रहा है। यहां बढ़िया तरीके से लोग काम कर रहे हैं। यहां के उत्पाद को बिहार और देश के बाहर भी भेजा जा रहा है। नई पॉलिसी के तहत हम यहां पर काम में लगे लोगों की मदद करेंगे। यहां पर बहुत लोगों ने उद्योग लगाने की इच्छा व्यक्त की है, हमलोग हर तरह से सहयोग करेंगे। पश्चिम चंपारण में ठीक ढंग से काम शुरु हो गया है जिसको देखने हमलोग आये हैं। इन लोगों को जो भी आवश्यकता होगी उसको पूरा किया जायेगा। नई औद्योगिक नीति में यह प्रावधान किया गया है कि उद्योग शुरु करने के लिए जिनको भी जगह की आवश्यकता होगी उनको सरकार जगह उपलब्ध करायेगी। जगह उपलब्ध कराने के बाद उसको ठीक ढंग से विकसित किया जायेगा ताकि जल्द काम शुरु किया जा सके। निर्माण कार्य शुरु होने से स्थानीय लोगों को भी रोजगार मिलेगा।

मुख्यमंत्री ने कहा कि यहां निर्माण कार्य में नई टेक्नोलॉजी का प्रयोग किया जा रहा है। नई टेक्नोलॉजी से तैयार सामान महंगी नहीं होती और इसकी डिमांड हर जगह होती है। नई पॉलिसी के तहत उद्योग लगाने को लेकर व्यवहारिक रुप से मदद करने का प्रयास किया जा रहा है। यहां की तरह ही सभी जिलों में काम किया जाएगा। कई जिलों में काम शुरु भी हुआ है। उद्योग लगाने वालों को सरकार के द्वारा मदद भी की जा रही है। बाहर से सामान मंगवाने और यहां के माल को बाहर भेजने में भी सरकार सहयोग करेगी। इसको लेकर सारी बातें हो चुकी है। हमलोगों का मकसद है कि बिहार में रोजगार के अवसर तेजी से पैदा किये जायें। पहले से ही हमारी सरकार की कोशिश रही है कि बिहार में उद्योगों को बढ़ावा मिले। उन्होंने कहा कि छोटे-छोटे उद्योग के जरिये बहुत सारे लोगों को रोजगार के अवसर मिलेंगे। सात निश्चय-2 के तहत नई टेक्नोलॉजी को लेकर लोगों को ट्रेंड किया जाएगा। इससे राज्य में उद्योग एवं रोजगार के अवसर बढ़ेंगे। उन्होंने कहा कि यहां हमने लोगों से बातचीत की, सभी लोग संतुष्ट हैं, इन्हें सहयोग किया जाएगा और इसे और आगे बढ़ाया जाएगा। उन्होंने कहा कि यहां पर काम करने वाले लोगों से बात करने पर यह विश्वास पैदा हुआ है कि यहां भी अन्य जगहों की तरह बेहतर कार्य किये जा सकते हैं। बेहतर तरीके से काम हो इसके लिए सभी स्तर पर काम किये जा रहे हैं। इस तरह के उद्योग को प्रोत्साहित किया जाएगा।

इस अवसर पर उप मुख्यमंत्री श्रीमती रेणु देवी, जल संसाधन मंत्री श्री विजय कुमार चैधरी, विधायक श्री उमाकांत सिंह, मुख्य सचिव श्री दीपक कुमार, अपर मुख्य सचिव उद्योग श्री ब्रजेश मेहरोत्रा, आयुक्त तिरहुत प्रमंडल मुजफ्फरपुर श्री पंकज कुमार, मुख्यमंत्री के विशेष कार्य पदाधिकारी श्री गोपाल सिंह, जिलाधिकारी श्री कुंदन कुमार, पुलिस अधीक्षक श्री उपेंद्र नाथ वर्मा सहित अन्य गणमान्य व्यक्ति एवं अधिकारीगण उपस्थित थे।